श्रमजीवी एक्सप्रेस के पैंट्रीकार में चल रहा था ‘गंदा खेल’… 11 लोग गिरफ्तार

0

नई दिल्ली से राजगीर आने वाली श्रमजीवी एक्सप्रेस के पैंट्रीकार में तस्करी का गंदा खेल खेला जा रहा है। जिसकी सूचना बिहारशरीफ रेल थाना पुलिस को मिली। गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने ट्रेन को रास्ते में रोककर छापेमारी की। जिसके बाद तस्करी के खेल का खुलासा हुआ।

क्या है मामला
दरअसल, श्रमजीवी एक्सप्रेस के पैंट्रीकार के जरिए शराब की तस्करी की गुप्त सूचना ALTF यानि एंटी लिकर टास्क फोर्स को मिली थी। इस सूचना के आधार पर बिहारशरीफ रेल थाना पुलिस ने हरनौत रेलवे स्टेशन पर छापेमारी की। जिसमें दिल्ली से राजगीर आ रही श्रमजीवी एक्सप्रेस के पेंट्रीकार से अंग्रेजी शराब-बीयर की खेप बरामद की।

11 लोग गिरफ्तार
पुलिस ने मौके से कर्मियों समेत कुल 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया। जिसमें तीन पेंट्रीकार कर्मी हैं। जबकि, अन्य लोग शराब खरीदार और धंधेबाज।

कौन-कौन हुआ गिरफ्तार
जिन 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है । उसमें बेगूसराय के लाखों गांव का रहने वाला पेंट्रीकार रसोइया पिंटू कुमार, यूपी का चाय विक्रेता अजय कुमार, बेगूसराय का रहने वाला रसोइया टुनटुन तांती, नालंदा के सरमेरा के मीरनगर का रहने वाला बंटी कुमार, बख्तियारपुर का रहने वाला मुन्ना कुमार, कमलेश कुमार, अर्जुन बसंल, हरनौत के श्रीचंदपुर का रहने वाला रौशन कुमार, राजगीर के वार्ड संख्या-6 निवासी सुधीर कुमार, बक्सर निवासी विकास कुमार और शेखपुरा के उसोखर निवासी शिव गोपाल शामिल है ।

इसे भी पढ़िए- बिहार में 56 BDO बदले गए.. जानिए किनका कहां हुआ तबादला

ठेकेदार पर भी होगा केस
रेल डीएसपी फिरोज आलम के मुताबिक पेंट्रीकार के ठेकेदार और प्रबंधक पर भी केस दर्ज किया जाएगा। गिरफ्तार लोगों में कितने कर्मी हैं, इसका खुलासा जांच से होगा। धंधेबाजों का नेटवर्क तगड़ा है। बताया जाता है कि लंबे समय से दिल्ली से शराब लाई जा रही थी। रेलकर्मियों की संलिप्तता की भी जांच होगी।

इसे भी पढ़िए-बिहारशरीफ में लव, सेक्स और धोखा !

राजगीर-नालंदा में होनी थी डिलीवरी
गिरफ्तार लोगों से पूछताछ में खुलासा हुआ कि खेप की डिलेवरी राजगीर-नालंदा में होनी थी। सूत्रों की मानें तो धंधेबाज सालों से ट्रेन द्वारा दूसरे राज्य से शराब खेप ला रहे थे। जिसकी भनक रेल पुलिस को नहीं थी। यह भी अंदेशा है कि ट्रेन के बिहार में इंट्री के बाद अन्य स्टेशनों पर भी शराब की डिलेवरी की जा रही थी।

कई सफेदपोश धंधेबाज होंगे बेनकाब
श्रमजीवी ट्रेन से शराब खेप बरामद होने से नागरिक हैरान हैं। बुद्धिजीवी चर्चा कर रहे हैं कि इस केस की इमानदारी से जांच हो तो कई सफेदपोशों की गर्दन फंस सकती है। इससे भी इनकार नहीं किया जा सकता बिहार के अन्य रेलवे स्टेशनों पर भी शराब खेप उतारी जाती होगी। बरामद खेप राजगीर-नालंदा रेलवे स्टेशन पर उतरनी थी। बिना रेल कर्मियों के संलिप्तता के पेंट्रीकार में शराब लोड करना संभव नहीं है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In अपराध

Leave a Reply

Check Also

नालंदा का इंजीनियर समेत 5 गिरफ्तार, ऐय्याशी के लिए करता था डकैती

नालंदा पुलिस ने एक हाईप्रोफाइल चोर गिरोह का भंडाफोड़ किया है। जो ऐय्याशी के लिए डकैती करता…