बिहार के ‘घूसखोर’ IPS के घर छापा.. सनसनीखेज खुलासा.. वेतन को हाथ तक नहीं लगाया !

0

भोजपुर के पूर्व एसपी और निलंबित आईपीएस अधिकारी राकेश कुमार दूबे के चार ठिकानों पर आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) ने छापेमारी की। बताया जा रहा है कि ये कार्रवाई आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में की गई है । छापेमारी में करोड़ों की चल-अचल संपत्ति का खुलासा हुआ है। साथ ही जांच में ये भी पाया गया है कि वो अपने सैलरी अकाउंट से न के बराबर नकद की निकासी की थी।

क्या है पूरा मामला
दरअसल, राकेश कुमार दूबे भोजपुर के एसपी थे। उनपर अवैध बालू खनने के मामले सस्पेंड कर दिया गया है । उनपर आरोप है कि उन्होंने अवैध तरीके से करोड़ों की संपत्ति अर्जित की है । उन्होंने अपनी कमाई के पैसे कई रियल स्टेट कंपनियों में लगा रखी है।

कहां कहां हुई छापेमारी
आर्थिक अपराध शाखा की टीम ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में राकेश दूबे के चार ठिकानों पर छापेमारी की। पटना के एसके पुरी स्थित गांधी पथ के मकान और दानापुर के जलालपुर स्थित अभियंता नगर के सुदामा पैलेस के फ्लैट संख्या 204 की तलाशी ली गई। वहीं, झारखंड के जसीडीह के सिमरिया स्थित पैतृक घर और जसीडीह के सचीन्द्र रेसिडेंसी नामक होटल में भी छापा मारा गया।

वेतन खाता से नकद निकासी लगभग न के बराबर
जांच एजेंसी ने तहकीकात के दौरान पाया कि राकेश दूबे ने अपने सेवाकाल में वेतन खाता से नकद राशि की निकासी न के बराबर की है। वहीं, पति-पत्नी के नाम पर विभिन्न कंपनियों के म्यूचुअल फंड में करीब 12 लाख का निवेश किया गया है। अबतक की जांच में राकेश दूबे के ज्ञात श्रोतों से करीब 2,55,49,691 रुपए की अधिक परिसंपत्तियां अर्जित किए जाने के साक्ष्य मिले हैं। ईओयू के मुताबिक तलाशी में कई दस्तावेज मिले हैं। जांच में उनके द्वारा अर्जित चल-अचल संपत्तियां बढ़ने की संभावना जताई गई है।

मनी लॉन्ड्रिंग का भी आरोप
ईओयू के मुताबिक राकेश दूबे ने अपने पद का दुरुपयोग कर काफी संपत्ति अर्जित की है, जिसमें जमीन, फ्लैट, दुकान और भूखंड शामिल हैं। यही नहीं, उन्होंने परिजनों, मित्रों, व्यवसायिक सहभागियों और अन्य के माध्यम से मनी लॉन्ड्रिंग कर काले धन को सफेद बनाने का प्रयास किया। ईओयू के अनुसार उन्होंने आईपीसी इंफ्रास्ट्रक्चर (देवघर, रांची), कामिनी इंफ्रास्ट्रक्चर प्रा.लि (निदेशक जावेद खान), पाटलिपुत्रा बिल्डर्स (निदेशक, अनिल कुमार), ख्याति कंस्ट्रक्शन, मैक्स ब्लिफ नोएडा (प्रोपराइटर, अजय शर्मा), बिल्डकॉन एवं अन्य बिल्डर्स के साथ उनकी कंपनियों में नगद राशि का निवेश कर रखा है। तलाशी के दौरान ख्याति कंस्ट्रक्शन के बैंक खाते में 25 लाख रुपए हस्तांतरित करने के साक्ष्य भी मिले।

जसीडीह में होटल और रेस्टोरेंट
ईओयू के मुताबिक जसीडीह में सचिन्द्र रेसिडेंसी नामक होटल, सुखदानी रेस्टोरेंट और एक मैरेज हॉल के निर्माण में राकेश दूबे की कमाई लगी है। उनकी मां और बहन के नाम पर कई चल-अचल संपत्तियों की जानकारी भी ईओयू को मिली है जिसका सत्यापन किया जा रहा है। जांच एजेंसी को यह भी पता चला कि जब वह फुलवारीशरीफ के एसडीपीओ के पद पर तैनात थे, उस दौरान काफी जमीन खरीदी गई। ईओयू के मुताबिक राकेश दूबे ने अवैध तरीके से कमाए करोड़ों रुपए सूद (ब्याज) पर लगा रखा है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In पुलिस प्रशासन

Leave a Reply

Check Also

नालंदा का इंजीनियर समेत 5 गिरफ्तार, ऐय्याशी के लिए करता था डकैती

नालंदा पुलिस ने एक हाईप्रोफाइल चोर गिरोह का भंडाफोड़ किया है। जो ऐय्याशी के लिए डकैती करता…