महिलाओं के लिए रामबाण है अश्वगंधा.. जानिए क्या क्या हैं फायदे

0

अश्वगंधा (Ashwagandha) एक ऐसी जड़ी बूटी है जिसका इस्तेमाल सदियों से होता आ रहा है। अश्वगंधा (Ashwagandha)को इंडियन विंटर चेरी या इंडियन जिनसेंग भी कहते हैं। वैसे तो अश्वगंधा (Ashwagandha) हर किसी के लिए फायदेमंद होता है, लेकिन महिलाओं के लिए तो ये रामबाण साबित होता है। ये महिलाओं में होने वाली कई शारीरिक समस्याओं को यह दूर करता है.

महिलाओं के लिए अश्वगंधा के फायदे

  •  एक रिपोर्ट के मुताबिक, आजकल महिलाएं बहुत अधिक स्ट्रेस, एंग्जायटी, हॉर्मोनल इम्बैलेंस, इंफ्लेमेशन, इर्रेगुलर पीरियड्स जैसी समस्याओं का सामना करती हैं, जिन महिलाओं को बहुत अधिक गुस्सा आता है, स्ट्रेस, एंग्जायटी से ग्रस्त हैं, उन्हें अश्वगंधा का सेवन करना चाहिए. इसमें मौजूद कुछ तत्व जो गुस्सा, मानसिक परेशानियां, चिंता, स्ट्रेस आदि को कम करते हैं. अश्वगंधा की जड़ को पानी में उबाल कर या उसका चूर्ण पानी के साथ लेने से मन शांत होता है.
  • रिपोर्ट के मुताबिक अश्वगंधा में मौजूद विथैनोलाइड फाइटोकेमिकल्स (Withanolide Phytochemicals) इंफ्लेमेशन को कम करने में मुख्य भूमिका निभाते हैं. यदि आपको सूजन, दर्द की समस्या रहती है, तो आप अश्वगंधा की सूखी पत्तियों से बनी चाय पिएं, इससे इंफ्लेमेशन की समस्या कम हो सकती है.
  • यदि आपकी एकाग्रता कम हो रही है, किसी भी काम में फोकस नहीं कर पाती हैं, चीजों को जल्दी भूल जाती हैं, तो रात के समय अश्वगंधा का सेवन करें. यह हर्ब संज्ञानात्मक कार्य में सुधार करती है. वृद्ध वयस्कों में यह सिजोफ्रेनिया के लक्षणों को भी कम करने में मदद करता है.
  • आजकल घर-परिवार, ऑफिस आदि के कामों में व्यस्त रहने से महिलाएं खुद पर ध्यान नहीं देती हैं. उनके अंदर हर छोटी सी छोटी बात को लेकर चिंता, तनाव रहती है, इससे सेक्सुअल लाइफ भी प्रभावित होता है. सेक्स में रुचि कम होने लगती है. अश्वगंधा सेक्सुअल समस्याओं को दूर करने की बेजोड़ औषधि है. यह पुरुषों में भी सेक्सुअल डिस्फंक्शन को दूर करता है.
  • कुछ महिलाओं में इर्रेगुलर पीरियड्स, क्रैम्प, इनफर्टिलिटी की समस्या, चेहरे के बालों का बढ़ना, पीरियड्स देर से आना, मेनोपॉज के दौरान कई तरह की समस्याएं होना कॉमन है. ये कई बार स्ट्रेस के कारण भी हो सकते हैं. हॉर्मोनल इम्बैलेंस के कारण भी महिलाओं में रिप्रोडक्टिव इशूज होते हैं. ऐसे में अश्वगंधा के सेवन से लाभ पहुंचता है. अश्वगंधा को आप रेगुलर दूध के साथ लेंगी तो ये सभी समस्याएं खत्म हो जाएंगी.
  •  अश्वगंधा के रोगाणुरोधी (antimicrobial) और जीवाणुरोधी (antibacterial) गुण योनि संक्रमण से निपटने में मदद कर सकते हैं. कई विशेषज्ञ यीस्ट इंफेक्शन के लिए इस जड़ी बूटी का उपयोग करने की सलाह देते हैं.
    त्वचा संबंधित समस्याएं जैसे समय से पूर्व एजिंग के लक्षण, झुर्रियां, एक्ने, दाग-धब्बों से अश्वगंधा छुटकारा दिलाता है. इसके सेवन से फ्लॉलेस और ग्लोइंग स्किन पाने में मदद मिलती है. इसमें अत्यधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो स्किन संबंधित इन समस्याओं को कम करते हैं.
Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In हेल्थ

Leave a Reply

Check Also

बिहार में 19 जिलों के भू-अर्जन पदाधिकारी बदले गए.. जानिए कहां किनका तबादला

बिहार सरकार ने 19 जिलों के भू-अर्जन पदाधिकारी का तबादला कर दिया है। जिसमें नालंदा,जहानाबाद…